Theory of Evolution In Hindi

Theory of Evolution In Hindi

Evolution की theory को Charles Darwin ने दिया था। यह इस बात की theory है की इस दुनिया में इतने सारे species क्यों है। क्या  इन species को किसी भगवान ने बनाया है या फिर ये अपने आप अस्तित्व में आई। तो जहा तक जीवन की सुरुवात की बात है theory of Evolution हमें इसके बारे में नही बताती पर हा Science हमें ये कहती है की अगर हम सही सामग्री और सही समय दे तोह life अपने आप अस्तित्व में आ सकती है और समय के साथ ये life complex होती जाती है। बहुत सारे लोगो का ये भी मानना है की Life को भगवन ने बनाया है पर इसको सपोर्ट करने के लिए कोई साबुत नही है। Charles Darwin भगवान के concept से खुश नही थे क्युकी ये हमें यह नही बताती है की आखिर जीवन की उत्पत्ति कैसे हुई और इस दुनिया में इतनी प्रजाति क्यों है। 

Charles Darwin का जन्म 1809 में इंग्लैंड में हुआ था। उनके पिता उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे पर Darwin एक naturalist बनना चाहते थे। एक बार Darwin को HMS Beagle ship में world की travel करने का ऑफर मिलता है तोह वह उस ऑफर को accept कर लेते है। 

HMS Beagle 1831 को अपने सफ़र के लिए निकला Darwin ने यात्रा के दोरान जो चीज़े देखि उसे देख कर वह चकित रह गए। उन्होंने देखा की वहा कई दुर्लभ प्रकार की species थी उन्होंने पानी में तैरने वाला छुपकलि देखि वहा उन्होंने अलग अलग  आइलैंड में अलग अलग प्रकार के कक्षवे देखे और उन्हें देख कर वो बता सकते थे की वो किस आइलैंड से belong करता होंगे।

1836 में HMS Beagle इंग्लैंड वापस आ गया  Darwin ने अपने साथ कुछ चिडया के specimens वापस लाये। जब इनकी lab में जाच हुई तोह पता लगा की ये सब चिडया तोह एक ही species की है जबकि वो दिखने में वो काफी अलग लग रही थी। Darwin ने कभी नही सोचा था की की ये चिडया एक ही species की हो सकती है क्युकी  किसी की चोच काफी लम्बी थी और किसी की चोच काफी छोटी थी किसी का size काफी बड़ा था और किसी का size छोटा पर वो एक ही प्रजाति की थी। इन्ही सब  research करने के बाद Darwin ने एक theory published की उसी theory को हम theory of Evolution कहते है। 

Theory of Evolution

इस दुनिया में limited resource है। यही करण है की सभी species एक दुसरे से compete करती है। चाहे वो खाने के लिए हो या Reproduction के लिए और जो इसमें successful होता है वही इस दुनिया में survive करता है और जो species survive करेगा उसी के offspring (बच्चे) हो पायंगे और उनके  जो बच्चे होंगे वह उनका कुछ characteristic inherit करंगे।   तोह सभी species चाहते है की वो अपने आप को nature के हिसाब से ढाले ताकि वो survive कर सके और  इस दुनिया में वही survive करेगा जो फिट होगा इसी  को हम Natural Selection कहते है।

Natural Selection ही Evolution का करण है species अपने आप को update करती रहती है और over the period of time उस species में इतने update हो जाते है की वो काफी अलग दिखने लग जाती है। यहाँ तक की वो अलग species में भी बदल जाती है। Evolution एक long time process है यानि इसे millions of years लगते है। हर एक second हमारे अन्दर एक slight variation आता रहता है।

  • आविष्कारक एक हिंदी वेबसाइट है जिसमे हम इनफार्मेशन को सरल भाषा में शेयर करते है जिससे की लोगो को समझने में आसानी हो हम इश वेबसाइट में टेक्नोलॉजी , साइंस, बिज़नेस से रिलेटेड इनफार्मेशन शेयर करते है

Leave a Reply

Your email address will not be published.